धारा 144 क्या है

धारा 144 क्या होता है? धारा 144 कब लगता है

धारा 144 के बारें मे तो अपने कई बार सुना होगा मगर क्या आपको पता है की आखिर धारा 144 क्या है इसको कब और क्यों लागू किया जाता है, यदि आपको मालूम है तो बहुत अच्छा मगर आप मे से कई ऐसे लोग भी है जिनको धारा 144 के बारें में नही जानते है तो हम इस आर्टिकल में आपको धारा 144 के बारें में बतायेंगे धारा 144 कब लागू किया जाता है? What is Section 144 in Hindi.

इस कानून को तब लागू किया जाता है जब किसी राज्य में कानून व्यवस्था बिगड़ने की स्थिति में होता है इस कानून यानि धारा 144 लागू हो जाने के बाद पुलिस चार या उससे अधिक लोगों को एक जगह जमा होने पर रोक लगा देते है इस कानून का उल्लंघन करने पर पुलिस कार्यवाई भी करती है l

धारा 144 क्या है? कब और क्यों लगाया जाता है

किसी क्षेत्र में किसी भी प्रकार के दंगे या सुरक्षा से जुड़े खतरे की आशंका होती है तो ऐसे समय में धारा 144 को लगाया जाता है, जिससे शांति बना रहे और किसी भी तरह की समस्या न हो l

1973 की आपराधिक प्रक्रिया संहित (CRPC) की धारा 144 को कार्यकारी मजिस्ट्रेट आशंकित खतरे या उपद्रव जैसे तत्कालीन मामलों में आदेश जारी करने का अधिकार देता है l

वही अगर कोई व्यक्ति इसका पालन नही करता है तो संबिधान के अनुसार सज़ा का भी प्रावधान है, Code of Criminal Procedure 1973 धारा 144 को इलाके में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए लागू किया जाता है l

इसकी शुरुआत कब हुई

इस धारा की शुरुआत राज रत्न ईएफ़ देबू ने की, इस धारा को पहली बार बड़ौदा राज्य साल 1861 में लगाया गया था, ये अंग्रेजों से भी जुड़ा है l

अंग्रेजों ने इस धारा का इस्तेमाल भारतीयों की आवाज को बंद करने के लिए करते थे, इस धारा इस उपयोग अंग्रेज़ अक्सर राष्ट्रवादी आंदोलन को रोकने के लिए करते थे l

धारा 144 लागू होने के बाद क्या होता है

जिस जगह धारा 144 लागू हो जाता है वहाँ तीन से अधिक लोग एक जगह नही रह सकते है साथ ही वहाँ हथियार की भी सप्लाइ पर रोक लग जाता है, यदि समस्या बढ़ने का खतरा हो तो इंटरनेट भी बंद हो सकता है l

तो दोस्तों, हमने जाना धारा 144 क्या है? इसको कब और क्यों लागू किया जाता है आशा करता हूँ की आपको ये आर्टिकल आपको पसंद आया होगा इसके साथ इसे शेयर जरूर करें l

Leave a Comment