क्या आप जानते है? दुनिया का पहला डिजिटल कैमरा का वजन कितना था जाने

World First Digital Camera: आज हम बात करे तो फोटो खींचना सभी को पसंद है और जिन्हे फोटोग्राफी का शौख है वो लोग महंगे से महंगा कैमरा खरीदते है l अपने शौख को पूरा करने के लिए ये लोग सस्ता या महंगा नही देखते, कैमरे के प्रति लोगो का शौख हमेशा से बढ़ता ही रहा है l चाहे वह बीते जमाने की बात करे या आज की इसमे को कमी नही आई है, हम पहले की बात करे तो पहले के कैमरे ब्लैक एंड व्हाइट तस्वीर खींचते थे और आज रंग-बिरंगे तस्वीर खींचने वाले कैमरे आते है l

कैमरे हमारे लिए इसलिए खास होते क्यूकी हमारे जीवन के खास पल फोटो के रूप के कैद हो जाते और सालों हमारे यादों को ताजा करते है जो कैमरे के आने की वजह से संभव हुआ तो जानते है दुनिया का पहला डिजिटल कैमरा कब आया और उसमे क्या खासियत थी l

फोटोग्राफी की दुनिया मे बदलाव

पहले के कैमरे मे रील डाली जाती थी लेकिन अभी डिजिटल कैमरे के आ जाने से फोटोग्राफी की दुनिया मे क्रांति ला दी l सन 1975 मे ईस्टममैन कोडक के स्टीवन सैसन नाम के इंजीनियर ने दुनिया का सबसे पहला डिजिटल कैमरा बनाने का प्रयास किया था इसने इस कैमरे को पहले डिजिटल स्टैन स्नैपर के रूप मे जाना जाता था l

कैमरे की खासियत

  • इस कैमरे का वजन करीब चार किलोग्राम था l
  • कैमरे का रिजाल्यूशन 0.01 मेगा पिक्सेल था l
  • इससे ब्लैक एंड व्हाइट फोटो ली जाती थी l
  • दिसंबर 1975 मे पहली बार डिजिटल कैमरे से रिकॉर्डिंग करने मे 23 सेकेंड का समय लगा था l
  • इसमे CCD इमेज सेंसर का प्रयोग किया गया था जो फेयरचाइल्ड सेमीकंडक्टर द्वारा विकसित किया गया था l

1991 मे हुई बिक्री

इस कैमरे की बिक्री 1991 मे ईस्टमैन कोडक कंपनी ने शुरू की जिसके बाद एपल कम्प्युटर और ईस्टमैन कोडक ने पहला कंज्यूमर माडल पेश किया l इन दोनों कंपनियों ने मिलकर एक ऐसा सॉफ्टवेयर पेश किया जिसके द्वारा डिजिटल कैमरे से खींची गई फोटो कम्प्युटर मे ट्रांसफर की जाने लगी l

Leave a Comment